Wafa Shayari in Hindi – वफ़ा शायरी हिंदी में – Latest Wafa Shayari Collection

Wafa Shayari in Hindi – वफ़ा शायरी हिंदी में – Latest Wafa Shayari Collection, Wafa Shayari, Hindi Wafa Shayari, Best Wafa Shayari Two Lines

Wafa Shayari
Latest Collection of Best Wafa Shayari in Hindi Language

जान से भी ज्यादा तुझ से वफ़ा:

परवाह करनी है तो उसकी करो जो तेरी करे,
ज़िन्दगी में तुझे जो कभी तनहा न करे,
जान बनके उतर जा तू उसकी रूह में,
जो जान से भी ज्यादा तुझ से वफ़ा करे ।

हमने वक़्त से बहुत वफ़ा कर ली:

ज़िन्दगी में हमने वक़्त से बहुत वफ़ा कर ली,
पर वक़्त हमसे बेवफाई कर चला गया,
कुछ हमारे नसीब बुरे थे,
तो कुछ लोगो का हमसे मन भर गया ।

उनकी वफ़ा कैसी है:

उनकी वफ़ा कैसी है पता तो चला,
ठोकर मिली पर जखम का पता तो चला,
सताया हमें जिसने हर पल बेगानो की तरह,
कौन है अपना कौन है पराया पता तो चला ।

उनसे वफ़ा करेंगे:

हर बार उनकी सलामती की दुआ करेंगे,
उनकी आरजू में अपनी हंसी फ़ना करेंगे,
वो चाहे दामन बचले हमसे, लेकिन,
हम मरते दम तक उनसे वफ़ा करेंगे ।

न करते वफ़ा तो:

आज अचानक तेरी याद ने रुला दिया,
क्या करूँ तुमने जो मुझे भुला दिया,
न करते वफ़ा तो न मिलती ये सजा,
मेरी वफाओं ने तुझे बेवफा बन दिया ।

वो बेवफा होता है:

मजबूरी में जब कोई जुदा होता है,
ज़रूरी नहीं की वो बेवफा होता है,
दे कर वो आपकी आँखों में आंसू,
अकेले में आपसे भी ज्यादा रोता है ।

इस से बढ़कर वफादारी:

वादे भी उसने क्या खूब निभाएं हैं,
ज़ख्म मुफ्त और दर्द तोहफे में भिजवाएं हैं,
इस से बढ़कर वफादारी की मिसाल क्या होगी,
मौत से पहले वो कफ़न ले आये हैं ।

अपनी वफ़ा पे नाज़ था:

छह है इस को रूह की गहराईओं के साथ,
ज़िंदा हूँ अपनी ज़ात की तन्हाइयो के साथ,
रोका नहीं था उस को बिछडने के वक़त भी,
अपनी वफ़ा पे नाज़ था सचियों के साथ ।

बेवफा से वफ़ा निभाते चले गए:

वो रो रो के हम पे इल्जाम लगते चले गए,
हम खूने आस्क को जिगर में दबाते चले गए,
अब जब जलता है दिल अश्को के आग से तो क्या गम है,
हम भी तो एक बेवफा से वफ़ा निभाते चले गए ।

वफ़ा का नाम न लो:

वफ़ा का नाम न लो यारो,
वफ़ा तो दिल दुखती है,
आज भी कोई वफ़ा की बात करता है, तो,
हमें किसी बेवफा की याद आती है ।

चाहे वफ़ा में:

चाहे वफ़ा में ठोकरे कहते रहो,
फिर भी रश्में वादे निभाते रहो,
यही तो इश्क़ का दस्तूर है यारो,
की जखम खाते रहो और मुस्कुराते रहो ।

इस कदर आपको वफ़ा देंगे:

ज़िन्दगी में इस कदर आपको वफ़ा देंगे,
आपकी हर खुशी के खातिर आंसू तक बहा देंगे,
हर पल याद रखेंगे आपकी दोस्ती को हम,
दूर रह कर भी आपको दिल से दुआ देंगे ।

उसे मेरी वफ़ा याद रहेगी:

वो प्यारी निगाह सदा याद रहेगी,
मिल कर न मिलने की अदा याद रहेगी,
मुमकिन है मेरे बाद वो मुझे भूल जाये,
लेकिन उम्र भर उसे मेरी वफ़ा याद रहेगी ।

वफ़ा में अब:

वफ़ा में अब ये हुनर इख्तयार करना है,
वो सच कहे न कहे ऐतबार करना है,
ये तुझको जागते रहने का शौक कबसे हुआ,
मुझे तो कैर तेरा इंतज़ार करना है ।

उम्मीद है आप सभी लोगों को यह लेख पसंद आया होगा । यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपा इसे अपने दोस्तों, रिस्तेदारों और जानकारों से शेयर जरूर कीजिये । अभी शेयर करने के लिए नीचे दिए सोशल शेयर बटन का उपयोग कीजिये और इसे अपने फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और अन्य सोशल नेटवर्क प्रोफाइल में शेयर कीजिये ।

हिन्दिज्ञान से जुड़े रहने के लिए अभी फॉलो कीजिये:

Facebook: https://www.facebook.com/hindigyaan
Twitter: http://twitter.com/hindigyaan
Pinterest: https://www.pinterest.com/hindigyaan
Google Plus: https://plus.google.com/+HindiGyaan

HindiGyaan.com के सभी नए लेख को तुरंत और सीधे अपने इ-मेल के इनबॉक्स में पाने के लिए अभी सब्सक्राइब कीजिये: Subscribe Us

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *