Pregnancy Diet in Hindi – Garbhwati Mahila Ke Aahar

Pregnancy Diet in Hindi, Garbhwati Mahila Ke Aahar : हर औरत जब प्रेग्नेंट होती है तोह वो यही चाहती है की उसका होने वाला बच्चा स्वस्थ हो। इसके लिए हर गर्भवती महिला को पर्याप्त मात्रा में पोष्टिक आहार का सेवन बहुत ही ज्यादा जरुरी होता है, क्योंकि गर्भवती महिला के खान-पान का असर उसके गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी पड़ता है।

पेट में पल रहे बच्चे का विकास उसकी माँ के आहार पर निर्भर करता है। गर्भवती महिला को ऐसा आहार लेना चाहिए जिससे गर्वस्थ शिशु की जरूरतों की पूर्ति हो सके।

सामान्य महिला की अपेक्षा प्रेग्नेंट महिला को प्रतिदिन 300 कैलोरी ज्यादा लेनी चाहिए।

सामान्य महिला को जहाँ प्रतिदिन 2100 कैलोरी का आहार लेना चाहिए, वही गर्भवती महिला को 2400 कैलोरी का आहार लेना चाहिए।

साथ ही कई प्रकार के मिनरल्स और विटामिन्स भी अपने आहार में शामिल करना चाहिए।

तो आइये आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में बताएँगे की गर्भवती महिला को अपने आहार में क्या क्या शामिल करना चाहिए जिससे वो और उसका बच्चा स्वस्थ रहे।

Food Chart for Pregnant Lady :

पानी खूब पिए : सामान्य महिला हो या गर्भवती महिला, पानी हमारे शरीर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। गर्भवती महिला को प्रतिदिन काम से काम 3 लीटर (10-12 गिलास ) पानी पीना चाहिए, जिससे उसके शरीर की बढ़ती हुयी जरूरतों की पूर्ति हो सके। गर्मी के समय में सामान्य रूप से आपको पानी की मात्रा में वृद्धि कर देनी चाहिए।

इसका मतलब यह हुआ की अगर सामान्य मौसम में आप 10-12 गिलास पानी पीती है तो गर्मी के समय में 12-14 गिलास पानी पीना चाहिए। हमेशा इस बात का ध्यान जरूर रखे की आप साफ़ पानी ही पी रहे हैं क्योंकि गन्दा पानी पिने से आपका स्वस्थ भी ख़राब हो सकता है। अगर हो सके तो बहार जाते समय अपने घर से ही साफ़ पानी लेकर चले और अगर ये नहीं कर सकती है तोह आप बहार से पैक बोतल का ही पानी पिए।

आयोडीन की पर्याप्त मात्रा : आयोडीन शिशु के विकास के लिए अत्यंत जरुरी होता है। आयोडीन की कमी से बच्चे में मानसिक रोग भी उत्पन्न हो जाते हैं। कई बार तोह देखा जाता है की आयोडीन की कमी से गर्भ पात की समस्या भी हो जाती है, इसलिए गर्भवती महिला को पर्याप्त आयोडीन की मात्रा लेनी चाहिए। गर्भवती महिला को प्रतिदिन 200-220 माइक्रो ग्राम आयोडीन की जरुरत होती है।

प्रोटीन भी है जरुरी : प्रोटीन के द्वारा ही गर्भवती महिला के गर्भाशय, स्तनों का विकास और गर्भ का विकास होता है। इस प्रकार प्रोटीन गर्भवती महिला के लिए बहुत महत्वपूर्ण तत्त्व है। गर्भवती महिला को आहार में प्रतिदिन 60-70 ग्राम प्रोटीन्स लेना चाहिए। लास्ट 6 महीनो में गर्भवती महिला को 1 किलोग्राम प्रोटीन लेना चाहिए। दूध (milk) और उससे बानी चीज़े, पनीर, काजू (cashew), बादाम (almonds), मछली (fish), अंडे (eggs) etc के द्वारा आपको प्रोटीन मिल सकता है।

विटामिन्स : गर्भवती महिला को विटामिन्स की भी बहुत जरुरत होती है। सामान्य अवस्था से ज्यादा गर्भावस्था में विटामिन्स की जरुरत बढ़ जाती है। प्रेग्नेंट महिला को ऐसा आहार लेना चाहिए जिसमे पर्याप्त मात्रा में विटामिन्स, मिनरल्स और प्रोटीन्स हो। दूध, दाले, और हरी सब्जियों से आपको विटामिन्स प्राप्त हो सकते हैं।

कैल्शियम : कैल्शियम के द्वारा गर्भवती महिला की हड्डिया तो मजबूत होती ही हैं, साथ ही ये होने वाले बच्चे की भी हड्डिया मजबूत करता है। कैल्शियम की जरुरत तो एक समाम्य महिला को भी होती है, जब गर्भवती महिला की बात आती है तो उसके लिए तो कैल्शियम बहुत ही ज्यादा जरुरी तत्त्व हो जाता है। गर्भवती महिला को प्रतिदिन 1500-1600 मिलीग्राम कैल्शियम की जरुरत होती है। दूध (milk) और दूध से बानी चीज़े, दाल, चीज़, अंजीर, मीट, अंगूर आदि के द्वारा आपको कैल्शियम प्राप्त हो सकता है।

फोलिक एसिड : फोलिक एसिड की पर्याप्त मात्रा गर्भवती महिला के लिए बहुत ही ज्यादा जरुरी होती है। फोलिक एसिड के सेवन से गर्भपात होने का खतरा काम हो जाता है, साथ ही इसके सेवन से उलटी पर भी रोक लग जाती है। फोलिक एसिड का सेवन तब से स्टार्ट कर देना चाहिए जब से आपके मनन में माँ बनने का ख्याल आ जाता है।

गर्भवती महिला को गर्भ धारण के पहले 3 महीनो में 4mg फोलिक एसिड लेना चाहिए। उसके बाद लास्ट के 6 महीनो में 6mg फोलिक एसिड लेना चाहिए।

जिंक : इसके सेवन से भूख न लगने जैसी बेमारियों से मुक्ति मिलती है, साथ ही इसके सेवन से किसी प्रकार का त्वचा रोग भी नहीं होता है और शरीर का विकास भी अच्छी तरह होता है। गर्भ वटी महिला को प्रतिदिन 15-20 मिलीग्राम जिंक लेना चाहिए। हरी सब्जियों के सेवन के द्वारा आपको पर्याप्त मात्रा में जिंक मिल सकता है, साथ ही आप मल्टी-विटामिन्स के सुप्पलीमेंट्स भी ले सकते हैं।

Pregnent Lady Ko Kab Khana Khana Chahiye

इसके अलावा गर्भवती महिला को समय समय पर कुछ न कुछ कहते रहना चाइये। अगर आपको भूख नहीं लगी हो फिर भी लगभग 4 घंटे के अंतराल से आपको कुछ न कुछ कहते रहना चाहिए। ऐसी अवस्था में भूखे न रहे, किसी भी प्रकार के उपवास करने से बचे।

जब आप गर्भवती हो तब किसी भी प्रकार का नाश न करें क्योंकि इसका सीधा असर आपके बच्चे पर पड़ेगा। कॉफ़ी का सेवन काम से काम करना चाहिए और हो सके तोह गर्भधारण के समय कॉफ़ी का सेवन न ही करें तोह बेहतर है। ज्यादा तीखा मसालेदार कहना न खाये। बहार के खाने से बचे, ज्यादा टाला हुआ भोजन न करें। अपने आहार में हरी सब्जियां, दाले, अंकुरित डालें आदि को शामिल करें। समय समय पर अपने डॉक्टर को दिखाएँ और डॉक्टर के कहे अनुसार विटामिन और आयरन की गोली ले।

इस प्रकार यहाँ हमने आपको बताया की जब आप गर्भ धारण करें तोह आपको कैसा आहार लेना चाहिए। हमारे आर्टिकल बेस्ट फ़ूड फॉर प्रेग्नेंट लेडी से आपको जरूर मदद मिलेगी।

तो दोस्तों Pregnancy Diet in Hindi का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके बताएं और अगर आपके पास कोई लेख हैं तो हमसे जरूर शेयर करें आपके नाम के साथ हम उस लेख को इस ब्लॉग पर पोस्ट करेंगे।

उम्मीद है आप सभी लोगों को यह लेख पसंद आया होगा । यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपा इसे अपने दोस्तों, रिस्तेदारों और जानकारों से शेयर जरूर कीजिये । अभी शेयर करने के लिए नीचे दिए सोशल शेयर बटन का उपयोग कीजिये और इसे अपने फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और अन्य सोशल नेटवर्क प्रोफाइल में शेयर कीजिये ।

हिन्दिज्ञान से जुड़े रहने के लिए अभी फॉलो कीजिये:

Facebook: https://www.facebook.com/hindigyaan
Twitter: http://twitter.com/hindigyaan
Pinterest: https://www.pinterest.com/hindigyaan
Google Plus: https://plus.google.com/+HindiGyaan

HindiGyaan.com के सभी नए लेख को तुरंत और सीधे अपने इ-मेल के इनबॉक्स में पाने के लिए अभी सब्सक्राइब कीजिये: Subscribe Us

आपको ये आर्टिकल कैसा लगा निचे कमेंट में जरूर लिखिए ।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *