Pregnancy Care Tips In Hindi – Symptoms and Precautions – प्रेगनेंसी केयर टिप्स

Pregnancy Care Tips In Hindi, Early Symptoms of Pregnancy, Precautions During Pregnancy in Hindi, Garbhavastha Me Savdhani Aur Dekhbhal, प्रेगनेंसी केयर टिप्स – किसी भी महिला के लिये माँ बनाना एक अनोखा अनुभव होता है। ऐसे समय में घर की बुजुर्ग और अनुभवी महिलाये उनकी हेल्प और देख रेख करती है। कोई लड़की जब पहली बार माँ बनती है तब उसके मन में शरीर में हो रहे बदलावों को लेकर और पेट में पल रहे बचे को लेकर काफी सवाल होते है। घर में जहाँ पर बुजुर्ग महिलाये जैसे सास, ननद, जेठानी के होने से उनके मन में उठ रहे बहुत से सवालो का जवाब उन्हें मिल जाता है। पर प्रॉब्लम तब होती है जब पति पत्नी अपने घर परिवार से दूर किसी और जगह रहते है और प्रेग्नेंट वीमेन का मार्गदर्शन करने वाली कोई बुजुर्ग महिला उनके साथ नहीं होती है।

Pregnancy Care Tips in Hindi, Garbhavastha Me Dekhbhal in Hindi
Read Out Early Symptoms of Pregnancy, Precautions and Pregnancy Care Tips in Hindi Language

Early Symptoms of Pregnancy in Hindi :-

ज्यादातर महिलाओ को प्रेगनेंसी के 3 महीनो में सुबह – सुबह उलटी आने की समस्या सबसे जड़ होती है। अर्ली प्रेगनेंसी सिम्पटम्स में जी मचलना, उलटी आना शामिल है। अगर आपको इसमें से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो समझ लेना चाहिए की आप प्रेग्नेंट है।

अगर आप को अर्ली प्रेगनेंसी सिम्पटम्स मिले है तो सब से पहले आप प्रेगनेंसी टेस्ट करे, आप चाहे तो किसी डॉक्टर के पास जा सकते है या फिर प्रेगनेंसी कैलकुलेटर का भी इस्तेमाल कर सकते है। इस आर्टिकल में हम कुछ ऐसे प्रेगनेंसी केयर टिप्स लाये है जो गर्भावस्था के समय आप के लिए जानना बहुत जरुरी है।

Precautions During Pregnancy in Hindi – गर्भावस्था में सावधानिया :-

प्रेगनेंसी में आपके शरीर की नसें और जोड़ो के भाग काफी कमजोर हो जाते है, इसलिए ऐसा कोई भी काम न करे जिसकी वजह से आपके शरीर के इन भागो को कोई नुक्सान पहुचे।

गर्भावस्था के समय भरी वजन न उठाये, जैसे पानी की बाल्टी।

प्रेग्नेंट वीमेन को कभी भी अपने दिमाग में किसी तरह की टेंशन न होने दे।

T.V पर हमेशा अचे प्रोग्राम ही देखे, जड़ डरावने या क्राइम वाले सीरियल से गर्भावस्था के समय दूर ही रहे।

प्रेग्नेंट लेडी को लंबी हील वाले संदल नहीं पहनने चाहिए, जितना हो सके फ्लैट चप्पल ही पहने।

बहार का कहना न खाएं जैसे की पिज्जा, बर्गर, चिप्स या कोई फ़ास्ट फ़ूड। क्योंकि ये चीजें पूरी तरह से शुद्ध नहीं मानी जाती और गर्भावस्था में शिशु को नुकसान पहुंच सकती है। इसलिए जरुरी है की आप प्रेगनेंसी डाइट प्लान बनाये।

बिना अपने डॉक्टर की सलाह के किसी भी तरीके की मेडिसिन न ले।

18 वीक्स की प्रेग्नेंट वीमेन को यात्रा काम से काम करनी चाहिए। बाइक, स्कूटर पर जहाँ तक हो सके न बैठे।

जड़ देर तक खड़े न रहे। अगर कहना बनाने के लिए कीस्थान में जड़ डियर तक खड़ा रहना पड़ता है तो अपने गैस-चूल्हे को निचे रखकर कहना बनाना का इंतेजाम करे।

कोशिश करे की आप कम से कम सीढियो का प्रयोग करे। अगर आप ग्राउंड फ्लोर पर न रहकर ऊपर के फ्लोर में रहते है और मज़बूरी में आपको निचे जाना पड़ता है तो कोशिश करे की एक ही बार में आप अपना सरे काम ख़तम कर ले और दुबारा आपको निचे न आना पड़े।

हमेशा खुले और ढीले ढाले कपडे ही पहने और जड़ टाइट कपडे न पहने।

प्रेगनेंसी के दौरान शराब न पिए। प्रेगनेंसी में शराब पीने से बच्चे को काफी बेमरिया हो सकती है।

गर्भावस्था के दौरान स्मोकिंग करने से और करने वालो को हमेशा अवॉयड करे क्योंकि ये गर्भ में पल रहे बच्चे को नुक्सान पहुंचा सकता है।

प्रेगनेंसी में शारीरिक सम्बन्ध बनाते समय भी बहुत सावधानी बरतने की जरुरत है।

हर रोज हल्का व्यायाम जरूर करे इससे आपके स्वास्थ्य पर काफी एच असर पड़ता है और आपको तनाव भी काम करने में मदद मिलती है। प्रेगनेंसी से जुडी हुई क्लासेज ले या रोजाना 15 से 20 मिनट तक वाकिंग करे। जड़ गर्मी से बचने के लिए घर के अंदर ही रहे।

सोने का पूरा समय निकले। प्रेगनेंसी के समय काम से काम 10 घंटे की नींद जरूर ले। और अगर आप रात में ठीक से नींद ना आये तो दिन में सोने का प्रयास करे।

प्रेग्नेंट वीमेन को पैरो और टखने की जलन और सूजन से मुक्ति पाने और कमजोरी दूर भागने के लिए पैरो को ऊपर करके आराम करे और हो सख्त तो आरामदायक जूते पहने।

गर्भावस्था के समय शरीर में काफी चंगेज़ आते है इसलिए ऐसे समय में ये जरुरी है की आप सही भोजन करे और ऐसी स्थितियों से बचे जिनसे आपके बच्चे का स्वास्थ्य खतरे में पद जाये।

प्रेगनेंसी के दौरान अपनी साफ़ सफाई का ध्यान रखे, अपने किचन के फर्श और बर्तनों को काफी साफ़ रखे, जिससे ये आपके स्वास्थ्य को नुक्सान न पहुंच पाए। जब तक बर्तनों को गर्म पानी से अच्छे से न धोया गया हो तब तक इनका प्रयोग न करे, क्योंकि ऐसा न करने पर बक्टइर (जीवाणु) के उसमे लगे रहने के काफी चान्सेस होती है।

अछि यादे बनाये। इसके लिए आपको थोड़ी मेहनत करनी पड़ेगी, पर इसका परिणाम काफी सुखद होगा। कई बार ऐसा भी लगता है की प्रेगनेंसी का समय ख़तम ही नहीं हो रहा, पर आपके लिए खुद को ये विश्वास दिलाना जरुरी है की ये समय जल्दी ही ख़तम हो जायेगा। अगर आप अपनी गर्भावस्था के समय को यादगार बनाना चाहती है तो पॉजिटिव थॉट्स पर जड़ ध्यान लगाए।

अगर आप 18 वीक्स प्रेग्नेंट वीमेन है तो आप को अकेले नहीं रहना चाहिए इसलिए किसी न किसी को हमेशा अपने साथ रखे।

आपको अपनी प्रेगनेंसी के स्टार्टिंग कुछ वीक्स में काफी तकलीफो का सामना करना पड़ सकता है। आपको मॉर्निंग सिकनेस या इससे जुड़े कोई और समस्याए परेशान कर सकती है, लेकिन इन सबका का ये मतलब नहीं की आप दुसरो के साथ रूखेपन से पेश आये। सबके साथ प्यार और अपनापन बनाये रखे जिससे की आपके बचे को कोई तकलीफ न हो।

तो दोस्तों आपको Best Pregnancy Care Tips In Hindi का ये आर्टिकल आप को कैसा लगा हमें कमेंट में जरूर बताये। और अगर आपके पास भी किसी तरह के Pregnancy Care Tips हो तो यहाँ हमारे साथ भी Share करे।

उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा । यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपा इसे अपने दोस्तों, रिस्तेदारों और जानकारों से शेयर जरूर कीजिये । अभी शेयर करने के लिए नीचे दिए सोशल शेयर बटन का उपयोग कीजिये और इसे अपने फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और अन्य सोशल नेटवर्क प्रोफाइल में शेयर कीजिये ।

हिन्दिज्ञान से जुड़े रहने के लिए अभी फॉलो कीजिये:

Facebook: https://www.facebook.com/hindigyaan
Twitter: http://twitter.com/hindigyaan
Pinterest: https://www.pinterest.com/hindigyaan
Google Plus: https://plus.google.com/+HindiGyaan

HindiGyaan.com के सभी नए लेख को तुरंत और सीधे अपने इ-मेल के इनबॉक्स में पाने के लिए अभी सब्सक्राइब कीजिये: Subscribe Us

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *