Insult Shayari in Hindi – Beizzati Shayari Hindi – बेइज़्ज़ती शायरी

Insult Shayari in Hindi – Beizzati Shayari Hindi – बेइज़्ज़ती शायरी : यदि आप किसी व्यक्ति की बेइज्जती शायरी के द्वारा करना चाहते हैं और आप बेइज्जती शायरी ढूंढ रहे हैं तो आप सही जगह आ गए है क्यूंकि दोस्तों आज हिन्दिज्ञान आप सभी के लिए बेइज्जती शायरी का कलेक्शन लेकर आया है ।

Insult Shayari, Beizzati Shayari
Best Collection of Insult Shayari / Beizzati Shayari in Hindi Language with image

खुद भी कभी मैसेज सेंड किया करो:

ज़िन्दगी जीते हो कंजूस की,
हमारी तरह भी कभी जिया करो,
मेरे मैसेज रोज़ पढ़के शर्म नहीं आती,
खुद भी कभी मैसेज सेंड किया करो ।

या बचपन से ही कमीने हो:

इतना खूबसूरत कैसे मुस्कुरा लेते हो,
इतना कातिल कैसे शर्मा लेते हो,
कितनी आसानी से जान ले लेते हो,
किसी ने सिखाया है, या बचपन से ही कमीने हो ।

खुल के मांगो:

क्या तुम गरीब हो ?
हाँ या ना ?
अगर अमीर हो तो पचास का बैलेंस भेजो,
और अगर गरीब हो तो ये मैसेज आगे भेजो,
खुल के मांगो यार ।

गुना जीरो पर अप्लाई नहीं होता:

अलादीन का चिराग मिला,
में जिन से बोल इस मैसेज पढ़ने वाले का दिमाग दस गुना बढ़ा दो,
जिन हंस कर बोला
गुना जीरो पर अप्लाई नहीं होता ।

मैसेज निचे से ऊपर पढ़ो:

है स्मार्ट बहुत वो है,
भेजा ने जिस और,
हूँ रहा पढ़ से निचे को मैसेज,
जो हूँ पागल वो मैं,

कन्फ्यूज्ड?

अब मैसेज निचे से ऊपर पढ़ो 🙂

दिल ने कहा दोस्तों को मैसेज कर:

दिल ने कहा दोस्तों को मैसेज कर,
मोबाइल उठाया,
फिर सोचा रहने दे,
दिल तो पागल है,
.
फिर सोचा दिल पागल है तो क्या हुआ
दोस्त कौन से नार्मल है ।

मैंने एक दिन मंदिर की दान पति में:

मैंने एक दिन मंदिर की दान पति में,
एक रुपया डालकर एक अच्छा दोस्त माँगा,
तब भगवन ने मुझे तुमसे मिलाया और कहा,
एक रुपया में ऐसा ही मिलेगा ।

मेरे पास एक बन्दर आया:

मेरे पास एक बन्दर आया और कहा,
मुझे लोगों को परेशां करना है,
मैंने तुम्हारा नाम बताया तो उसने,
थप्पड़ मारा, कहा “बॉस” से पंगा नहीं लेने का ।

तुम मुझसे बेहतर रहे हो:

तुम हमेशा मुझसे बेहतर रहे हो,
इसमें कोई शक नहीं,
मैं सौ तुम एक सौ पांच,
मैं दो सौ तुम दो सौ दस,
मैं तीन सौ तुम तीन सौ पंद्रह,
मैं चार सौ तो तुम ???
जवाब जरूर देना ।

चमकते चाँद को:

चमकते चाँद को नींद आने लगी,
आपकी ख़ुशी से दुनिया जगमगाने लगी,
देखके आपको हर काली गुनगुनाने लगी,
अबतो फेंकते फेंकते मुझे नींद आने लगी ।

हर ख़ुशी को तेरी तरफ मोड़ दूँ:

हर ख़ुशी को तेरी तरफ मोड़ दूँ,
तेरे लिए ये दुनिया छोड़ दूँ,
तेरे लिए दिल के दरवाजे खोल दूँ,
तू एक बार हंस के दिखा, तेरे सारे दांत तोड़ दूँ ।

तो दोस्तों बेइज़्ज़ती शायरी का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके बताएं और अगर आपके पास कोई और बेइज़्ज़ती शायरी हैं तो हमसे जरूर शेयर करें आपके नाम के साथ हम उस शायरी को इस लिस्ट में इन्वॉल्व करेंगे ।

उम्मीद है आप सभी लोगों को यह लेख पसंद आया होगा । यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपा इसे अपने दोस्तों, रिस्तेदारों और जानकारों से शेयर जरूर कीजिये । अभी शेयर करने के लिए नीचे दिए सोशल शेयर बटन का उपयोग कीजिये और इसे अपने फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और अन्य सोशल नेटवर्क प्रोफाइल में शेयर कीजिये ।

हिन्दिज्ञान से जुड़े रहने के लिए अभी फॉलो कीजिये:

Facebook: https://www.facebook.com/hindigyaan
Twitter: http://twitter.com/hindigyaan
Pinterest: https://www.pinterest.com/hindigyaan
Google Plus: https://plus.google.com/+HindiGyaan

HindiGyaan.com के सभी नए लेख को तुरंत और सीधे अपने इ-मेल के इनबॉक्स में पाने के लिए अभी सब्सक्राइब कीजिये: Subscribe Us

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *