Amethyst Stone Benefits in Hindi – Jamunia Stone Ke Fayde – जमुनिया रत्न के फायदे

Amethyst Stone Benefits in Hindi, Jamunia Stone Ke Fayde, Benefits of Wearing Jamunia Stone Ratna Hindi Me – जमुनिया रत्न के फायदे – अंग्रेजी में इसे एमेथेस्‍ट कहते हैं। इसका रंग जामुन के रंग जैसा होता है इसलिए इसका नाम जामुनिया पड़ा। यह बैंगनी रंग का पत्‍थर है जोकि सेमीप्रीसियस स्‍टोन्‍स की कैटेगरी में आता है।

कौन पहने:

भारतीय ज्‍योतिष विज्ञान के अनुसार जामुनिया शनि से संबंधित है और शनि के रत्‍न नीलम के उपरत्‍न के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। नीलम की तरह ही यह कुंभ (एक्‍वेरियन) और मकर (कैपरिकॉन) का रत्‍न है। इसलिए जामुनिया को धारण करने से शनि के दोषों और गलत प्रभावों से छुटकारा मिलता है और पहनने वाले को धन, सम्‍मान और अच्‍छी सेहत मिलती है। मेष (एरीज), कर्क (कैंसर), सिंह (लिओ), वृश्चिक (स्‍कॉरपियो) से भी ये संबंधित होता है।

जामुनिया से लाभ:

जामुनिया शनि का रत्‍न है जो कि ‘न्‍याय’ और ‘मानवता’ का ग्रह है। अत: इस रत्‍न को पहनने से धन, सम्‍मान और मानसिक शांति मिलती है। शनि ढइया, शनि साढ़े साती और शनि महादशा के समय में इसके गलत प्रभावों से बचाने के लिए नीलम के स्‍थान पर जामुनिया धारण किया जा सकता है।

जामुनिया धारण करने से कार्य क्षेत्र में भी प्रगति होती है क्‍योंकि यह निर्णय लेने की क्षमता को बढ़ाता है जिससे प्राप्‍त अवसरों का ज्‍यादा लाभ उठाया जा सकता है। यह रत्‍न मेहनती बनाता है और ऐसा देखा गया है कि इसके धारण करने से व्‍यक्‍ति काम के प्रति ज्‍यादा डेडिकेटेड हो जाता है और अपनी नैतिक जिम्‍मेदारी को समझता है।

शनि से संबंधित अंगो जैसे घुटना, रीढ़ की हड्डी और कन्‍धे की तकलीफें भी जामुनिया पहनने से कम होती हैं।

खरीदते समय ध्‍यान देने योग्‍य बातें:

ज्‍योतिष विज्ञान के अनुसार जामुनिया पहनने वाले व्‍यक्‍ति को यह रत्‍न उसके वजन के दसवें हिस्‍से के बराबर ही धारण करना चाहिए। और उन सभी बातों का ध्‍यान रखना चाहिए जो किसी भी रत्‍न को खरीदने समय होनी चाहिए जैसे रत्‍न की चमक अच्‍छी होनी चाहिए, वो कहीं से टूटा या उसमें किसी प्रकार का स्‍क्रेच न हो, उसके साथ किसी भी प्रकार की छेड़-छाड़ न की गई हो जैसे कैमिकल वॉश और हीट ट्रीटमेंट। ज्‍योतिष के अनुसार रेमिडी के लिए इसे धारण किया जा रहा है तो अफ्रीका में पाया जाने वाला जामुनिया सबसे बेहतर माना जाता है।

कीमत:

ये रत्‍न बहुत ज्‍यादा महंगा नहीं होता। ये भी कैरेट और रत्‍ती की माप में खरीदा जाता है। अच्‍छे जामुनिया की कीमत 150 से 400 रू. प्रति कैरेट होती है। अगर ज्‍योतिष रेमिडी के लिए जामुनिया धारण किया जा रहा है तो अच्‍छी क्‍वालिटी का जामुनिया ही पहनना चाहिए।

गुणवत्‍ता:

इसकी गुणवत्‍ता इसकी कटिंग, रंग और स्‍पष्‍टता पर निर्भर करती है। इसका रंग गाढ़ा बैंगनी होना चाहिए और रत्‍न के साथ किसी भी प्रकार की छेड़-छाड़ नहीं की गई हो। ज्‍योतिष रेमेडी के लिए धारण किए जाने वाले जामुनिया में विशेष ध्‍यान रखना चाहिए कि उसका रंग बिल्‍कुल भी हल्‍का न हुआ हो और वह कहीं से टूटा न हो।

कहां से प्राप्‍त करें प्राकृतिक जामुनिया:

सेंथेटिक जामुनिया भी बाजार में बहुत अधिक मात्रा में है। इसके आकर्षक रंग के कारण इसे फैशन ज्‍वेलरी में बहुत ज्‍यादा इस्‍तेमाल किया जा रहा है। लेकिन ज्‍योतिष रेमिडी के लिए इसे किसी डीलर से लें ऑन लाइन इसकी शॉपिंग करें, रत्‍न से संबंधित लैब सर्टिफिकेट जरूर देखें।

दोस्तों Jamunia Stone Ke Fayde का ये लेख आपको कैसा लगा कमेंट कर के बताये और यदि इस रत्न से जुड़ी और कोई जानकारी आपके पास है तो हमारे साथ Share करे।

उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा । यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपा इसे अपने दोस्तों, रिस्तेदारों और जानकारों से शेयर जरूर कीजिये । अभी शेयर करने के लिए नीचे दिए सोशल शेयर बटन का उपयोग कीजिये और इसे अपने फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और अन्य सोशल नेटवर्क प्रोफाइल में शेयर कीजिये ।

हिन्दिज्ञान से जुड़े रहने के लिए अभी फॉलो कीजिये:

Facebook: https://www.facebook.com/hindigyaan
Twitter: http://twitter.com/hindigyaan
Pinterest: https://www.pinterest.com/hindigyaan
Google Plus: https://plus.google.com/+HindiGyaan

HindiGyaan.com के सभी नए लेख को तुरंत और सीधे अपने इ-मेल के इनबॉक्स में पाने के लिए अभी सब्सक्राइब कीजिये: Subscribe Us

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *